पर्सनल लोन क्या है | पर्सनल लोन क्यों चाहिए | पर्सनल लोन कहां से लेना चाहिए – All About Personal Loan

पर्सनल लोन क्या है पर्सनल लोन क्यों चाहिए पर्सनल लोन कहां से लेना चाहिए - All About Personal Loan

 पर्सनल लोन क्या है – What is Personal Loan

पर्सनल लोन – Personal Loan एक प्रकार का अनसिक्योर्ड लोन है।  इसमें आपको किसी भी प्रकार की कोई चीज गिरवी नहीं रखनी पड़ती। पर्सनल लोन में आपको घर या सोने चांदी के जवाहरात गिरवी नहीं रखने पढ़ते। यह लोन आपको आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के बेस पर तुरंत मिल जाता है। क्रेडिट हिस्ट्री का मतलब होता है कि अगर आपने पहले कोई लिया लोन लिया है तो उसका ब्याज व मूल रकम समय पर जमा की है या नहीं की है, इसी को देखते हुए आपका एक क्रेडिट स्कोर बनाया जाता है।

Read More: SBI बैंक से पर्सनल लोन कैसे लें सकते है – SBI Personnel Loan, Sbi Personal Loan kaise le?

पर्सनल लोन क्यों चाहिए – Why you need Personal Loan

पर्सनल लोन आपको यात्रा पर जाने के लिए, घर का नवीनीकरण कराने के लिए, अपने घर में किसी की शादी के लिए, आपातकालीन चिकित्सा यानी कि मेडिकल एमरजैंसी के लिए, घरेलू उपकरण खरीदने के लिए व अन्य जरूरी कामों के लिए आपको पर्सनल लोन तुरंत मिल जाता है।

पर्सनल लोन कहां से लेना चाहिए – Where to get Personal Loan

 

पर्सनल लोन आप किसी भी बैंक से ले सकते हैं यह जरूरी नहीं है कि जिस बैंक में आपका खाता है आप उसी बैंक से पर्सनल लोन ले । हालांकि आजकल तो पर्सनल लोन सिर्फ बैंकों से ही नहीं बल्कि डिजिटल NBFCs से भी मिल जाता है। और इसके अलावा भारत के किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंक से पर्सनल लोन ले सकते हैं सिर्फ शर्त एक हैं कि आपका क्रेडिट स्कोर 750 से ज्यादा होना चाहिए।

पर्सनल लोन के फायदे – Advantages of Personal Loan

  1. पर्सनल लोन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपको किसी भी प्रकार की कॉलेटरल गिरवी नहीं रखनी पड़ती। यह एक अनसिक्योर्ड लोन की श्रेणी में आता है और इसके लिए आवेदक को कोई सिक्योरिटी नहीं देनी पड़ती है।
  2. पर्सनल लोन का दूसरा फायदा यह है कि यह आप किसी भी इस्तेमाल के लिए ले सकते हैं इसमें आपको किसी भी प्रकार की ज्यादा कागजी कार्रवाई नहीं करनी पड़ती।
  3. पर्सनल लोन का तीसरा फायदा यह है कि इसमें आपको किसी मूलयवान चीज की या गारण्टीर की जरूरत नहीं पड़ती, यह आप अपने दम पर अकेले ले सकते हो।
  4. पर्सनल लोन के इस्तेमाल पर कोई प्रतिबंध नहीं होता है जैसा कि आपने देखा होगा होम लोन, कार लोन आदि लोन इस्तेमाल पर प्रतिबंधित जुड़े रहते हैं और इस प्रकार के लोन में पैसे सीधा उधारकर्ता को ना देकर विक्रेता को दिए जाते हैं जबकि पर्सनल लोन में पैसे सीधा उधारकर्ता के हाथ में दिए जाते हैं।
  5. पर्सनल लोन आप सुविधा अनुसार 12 से 24 महीने के बीच में चूका सकते है।

पर्सनल लोन के नुकसान – Disadvantage of Personal Loan

  1. पर्सनल लोन का सबसे बड़ा नुकसान यही है कि इसमें ब्याज दरें सबसे अधिक वसूली जाती है। जहां पर गोल्ड लोन, होम लोन या कार लोन में आपको 7 से 10% तक का ब्याज भरना पड़ता है वही पर्सनल लोन में आपको 12 से 24% तक का ब्याज भरना पड़ सकता है।
  2. पर्सनल लोन में आपसे प्री पेमेंट चार्ज भी लिया जाता है जबकि और किसी लोन में आपसे किसी प्रकार का कोई पेमेंट चार्ज नहीं लिया जाता है।
  3. अगर आपका क्रेडिट स्कोर खराब है, तो आपको किसी प्रकार का कोई भी लोन नहीं मिलेगा।
  4. पर्सनल लोन में आपको बहुत अधिक प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ती है। अगर आप बाकी किसी भी प्रकार के लोन से तुलना करेंगे तो आपको यह पता चलेगा की प्रोसेसिंग फीस बहुत अधिक है।
  5. इनकम प्रूफ के बिना आपको पर्सनल लोन नहीं मिलता है।
  6. जैसा कि आप जानते हैं की पर्सनल लोन में आपको कोई भी चीज गिरवी नहीं रखनी पड़ती और अगर आप किसी कारणवश लोन नहीं चुका पाते तो आप डिफॉल्टर बन जाते हैं और आप का क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है।

पर्सनल लोन कौन ले सकता है – Who can Take Personal Loan

आइए देखते हैं कौन-कौन पर्सनल लोन लेने के लिए योग्य हैं।

  1. जिसके लिए पेमेंट कैपेसिटी अच्छी हो।रीपेमेंट कैपेसिटी का मतलब होता है कि आप की सालाना इनकम कितनी है व साथ ही साथ आपने कितने लोन ले रखे हैं।
  2. क्रेडिट स्कोर एक बहुत ही जरूरी चीज होती है पर्सनल लोन लेने के लिए यह है आपका कम से कम 750 से ज्यादा होना चाहिए। अगर आपका क्रेडिट स्कोर 750 से कम है तो आप हो पर्सनल लोन नहीं मिलेगा।
  3. अगर आपकी उम्र 21 साल से कम है तो भी आपको पर्सनल लोन नहीं मिल सकता। पर्सनल लोन लेने के लिए आपकी उम्र है 21 साल से 60 साल के बीच में होनी चाहिए।
  4. आपको कितना लोन मिलेगा कुछ शर्तों के आधार पर इसका निर्णय लिया जाता है।
  • पहली शर्त यह है कि आप किस प्रकार का व्यवसाय करते हैं, आप तनखा पर काम करते हैं या फिर आपका खुद का एक व्यापार है।
  • दूसरी शर्त यह है कि आपकी मासिक आमदनी कितनी है।

इन दो शर्तों के आधार पर यह निर्णय लिया जाता है कि आपको पर्सनल लोन कितना मिलेगा।

आपको यह जानकारी कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं तो अगर आपका कोई सवाल है तो उसे भी कमेंट में पूछें। हम रिप्लाई अवश्य देंगे।